Sanju baba movie learns us how breaking bad habit

Sanju Baba की फिल्म हमें सिखाती है कि बुरी आदत से कैसे छुटकारा पाए

 

आप लोग फिल्म को देखते  होंगे मै भी देखता हूँ देखना भी चाहिए बहुत अच्छी बात है भी बहुत सी बाते  सिखने को मिलती है आजकल theater  में एक फिल्म चल रही है और बहुत धमाल मचा रही है,आप लोगो ने अब तक  देख भी लिया  होगा  movie का नाम है sanju , sanju  movie  sanju baba के जीवन में घटी घटनाओ से प्रेरित होकर बनाई गई है  sanju baba हम सब प्यार से संजय दत्त को ही बोलते है ।

 

  Sanju Baba बाबा के बारे में यहाँ कुछ जानकारी दिया जा रहा है

   D.O.B  – 2 9 जुलाई 1 9 5 9 (58 वर्ष)

   Birth place-Bombay (India)

   Profession-बताने की जरुरत नहीं है

   Parents- Sunil dutt,nargis




Sanju baba की फिल्म का नाम sanju   है,जिसमे उनकी जिंदगी के  हरेक पहलु को दिखया गया हैsanju  फिल्म में संजय दत्त का किरदार रणवीर कपूर ने की है  फिल्म में दिखाया गया है sanju baba का 21 साल में  फ़िल्मी करियर शुरू हो जाता है sanju baba के पिता जी सुनील दत्त जी अपने बेटे को एक काबिल इंसान  बना चाहते है पर sanju baba  गैर जिम्मेदार होते है ।

 


22 साल की उम्र में sanju baba पहली फ़िल्म के suiting के दौरन सुनील दत्त के द्वारा सिगरेट पीते पकड़े जाते है यही से उनके नशे के आदत बढ़ जाती  है, sanju baba का एक दोस्त  रहता हैं जो sanju baba के लिए हर तरह के नशे का arrangement करता है।


Sanju baba को नशे की आदत एक प्रकार की नही कही तरह की होती है cigrate, whisky,kokin, drugs  ना जाने कितने type का ।संजू बाबा के माता जी के कैंसर से patient थी उस दौरान भी sanju baba नशा करने से नही चूकते थे उसी नशा के कारण ही   जिस लड़की से शादी होने
 वाली रहती है वो भी  नहीं होती है।

 

ये भी पढ़े जो अपनी मेहनत से देश का भविष्य निर्माण कर रहे है 

Giving education is the purpose of life

 

Sanju baba के नशे की आदत को छुड़ाने के लिए सुनील दत्त अमेरिका के नशा मुक्ति संस्था में ले जाते है पर वहाँ से कुछ दिनों बाद जाते है। अपने परम मित्र कमलेश कन्हैया लाल के पास 2000 किमी की दुरी पैदल तय करने निकल पड़ते है ।पैदल और लिफ्ट लेते हुए अपने दोस्त के पास 12 दिन के बाद पहुँच जाते है,वहाँ sanju baba देखेते है उनके पिता जी पहले से ही उपस्थित रहते है।सुनील दत्त जी sanju baba को उनकी माता जी नरगिस द्वारा dub किया गया casset सुनाते हैं बस यही से  sanju baba का अपने आप से युद्ध शुरु होता है

 

लगातार अपने माँ  की बात याद करके बड़ी मेहनत के बाद वो अपने नशे की आदत से बाहर निकलते है। नशे छूटने के बाद sanju baba को समझ आता है की उनका  ​​एक मित्र पैसे कमाने के फेर में sanju baba को नशे में डूबा देता हैं,नशे छूटने के बाद sanju baba तो अपने दोस्त  को छोड़ देते हैं।

 

याद रखिये दोस्त  बनाते  समय हमेशा सावधानी रखें कही  आपकी दोस्ती के आड़ में कोई आपको गलत  रास्ते में थोड़े ही ले जा रहा हैं।


हम जिसे अपना दोस्त समझते है कही  हमारे भरोसे का नाजायज फायदा थोड़े ही  उठा रहा है।


Sanju baba की फिल्म से sanju baba से एक चिज हम सभी को सिखनी चहिये कि अपने  आप  से कैसे जीते अपने आप  से मतलब  अपने दुर्गुणों से।

 

  फ़िल्म  में  sanju baba नशे की आदत से पीड़ित रहते  है  असल जिंदगी में  भी हम सब में कुछ न कुछ ऐसे दुर्गुणों से  पीड़ित है जिसकी वजह से  सफलता के राह में  बाधा है वो चाहे घमंड हो,आलस, या लक्ष्य  विहिन होना, या  नशा कुछ भी तरह का ऐसा चीज जो हमारी सफलता  के राह में बाधा हो।

 

     जो भी चिज जो हमारे जीवन के सफ़लता तक पहुचने में बाधा पहुँचा रही हो हमे उस चिज को जीतेने का प्रयास करना चाहिये

 

“एक कहावत है दुनिया जीतना आसन है असली  जीत तो  वो है जिसमे  अपने दुर्गुणों को हराकर अपने आप से जीता जाये “

 

 फिल्म में  सुनील दत्त जी ने sanju baba को जीवन जीने  के लिय कुछ गाने  बताये थे ,आप सभी ने सुना भी होगा, गाने की गहराई को यहाँ समझ सकते हैं


1. ना मुह छुपाके जियो, और ना सर झुका के जियो ( Sahir Ludhianvi) यहाँ गाने  में बताया गया है कि आप कभी किसी डर या किसी के दबाव मे ऐसा काम न करे जिसकी वजह से  आत्मविश्वास या आत्म सम्मान को चोट  पहुँचे,चाहे कोई विपरीत स्थिति  हो या कोई व्यक्ति आंख मिलाकर सामना  करें आप देखेंगे जीत आपकी होगी।

 

2. दुनिया  में  रहना है तो काम कर प्यार, हाथ जोड़ सबको सलाम कर प्यारे ( Anand Bakshi ) यहाँ बताया गया है कि आप  अपने काम को महत्व दे और कोशिश करे कि समय में काम पूरा करे, अगर समय को value देंगे तो समय आपको value देगा और आप सफल होंगे

3. कुछ तो लोग कहेंगे, लोगो  का काम है कहना ( Anand Bakshi )  इस गाने के माध्यम से बताया गया है की आप सही   है तो भी आपके ऊपर उंगली उठेगी है,आप अपना 100% सही देते रहिये और आगे बढ़ते रहिये समय आपके ऊपर उंगली उठाने वालों को खुद ब खुद जवाब देगा

 

Sanju baba की फिल्म sanju   भले ही एक फ़िल्म पर हमको इस फ़िल्म से कुछ सिखना चाहिये जैसे


1. सबसे पहले हमें ये सिखने को मिलता हैं कि friendship सोच समझकर करे क्योंकि आपके सबसे करीब आपके friend ही होते हैं, इसलिए समय समय पे अपने friends को परखते रहिये कहीं आपको गुमराह तो थोड़े ही कर रहें।


2. नशे से दुर रहने का कोशिश करें आपको आपके लक्ष्य से दूर ले जा सकता है।


3.डर की वजह से गलत काम करने के लिये हामी ना भरे सही गलत को समझे और निर्णय ले।


4.आपके काम की वजह  से आपकी पहचान है,अपने काम को समय के साथ पूरा करे समय को महत्व दीजिये औ  अपने Goals में Focus करिये।


5.लोगो के बातों को ध्यान न दे लोग तो माता सीता के ऊपर भी उंगली उठा दिये थे कि वो गलत हैं लोगो की उतना ही परवाह करे जितना कि आपके मन की शांति भंग न हो,अपने लक्ष्य के प्रति कार्य करे लोगो के लिये नहीं।

 

पसंद आए तो like और share करें।

आपका मित्र

शशांक द्विवेदी

www.hinditechtalk.com

7 COMMENTS

  1. I seldom write comments, but i did a few searching and wound up here Sanju baba movie
    learns us how breaking bad habit – Hindi Tech Talk. And I actually do have a couple of questions for you if you tend
    not to mind. Is it just me or does it seem like
    a few of these remarks look like coming from brain dead folks?
    😛 And, if you are writing on additional sites,
    I’d like to keep up with everything new you have to post.
    Would you list of every one of your public pages like your Facebook page, twitter feed,
    or linkedin profile? http://ask.nevershutdown.com/index.php/1523284-faqs-about-eyelash-extension/0

  2. Ha bhai #Sanju_Baba movie ham sabhi ke liye bahut hi motivational movie hai aur aap ne jis tarah se iske baare me bataya vo padh kar aur bhi acha laga..
    Aise hi post karte rahiye..
    #ISupportYou

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here