Kya Professional Life Or Personal Life Balance Ho Sakta Hai?

Kya Professional Or Personal Life Balance Ho Sakta Hai ?

आज मैं ऐसे topic पे आपसे discussion करूँगा जिससे आजकल young generation जूझ रहा है और वो topic हैं Kya Professional Or Personal Life Balance Ho Sakta Hai?

स्वाभाविक सी बात है,आजकल competion के जमाने मे हर व्यक्ति luxrious life को लेकर जी तोड़  मेहनत  कर  रहा है,  और और अपनी self desire को पूरा करने के लिए,कड़ी मेहनत कर रहा हैं पर इन सब के बीच मे हमारी personal life भी जिसको.  हम.  अक्सर  ignore  कर  देते  हैं। औऱ professional और     personal life के बीच मे balancing नहीं कर पाते आखिर क्यों?

इसका सबसे बड़ा कारण हैं अपने job को लेकर अति जागरूक होना        अति हर चीज की नुकसान पहुँचाता ही है,आपने कभी सोचा है natural भी हमे अपने life को जीने के बहुत से नियम सिखाती आइये मैं आपको समझाता हूँ।      कभी आपने सोचा है सूर्य सुबह क्यों निकलता हैं और शाम होते ही ढल जाता है ,नहीं आपने नहीं सोचा सूर्य भी  अपना job का time limit तय कर रखा है।सुबह होते ही काम पे सूर्य काम पे लग जाता है  और  शाम    होते ही काम को good bye कहकर फिर   दूसरे   दिन नई ऊर्जा के साथ लग जाता है।

 

लेकिन हम ऐसा नहीं    करते हैं हमारा    duty hour over होने के बाद भी boss को खुश करने के    फेर में जबरदस्ती    काम पे लगे रहते है,  जबकि हमारा दिमाग    और शरीर दोनो साथ छोड़ चुका रहता इसी को कहते हैं    natural   के   विरुद्ध   काम     करना जब हम सूर्य निकलते साथ ही duty के लिए ready हो जाते हैं,तो   सूर्य के डूबते ही हमको भी घर    की तरफ रुख करना चाहिये    और personal life  अपने family के लिये, अपने hobby, social life के     लिए time निकालना चाहिए।duty hour के खत्म    होने के बाद भी सिर्फ इसलिए काम पे लगे रहते क्योंकि  boss  की  शाबाशी   मिले,  कभी  आपने   सोचा   आपके job change करने के साथ ही क्या आपका boss  आपकी  personal life के problem निपटाने आएंगे नहीं बिल्कुल नहीं, आप अपने family को    importance दीजिये वो हमेशा आपके साथ  ही    रहेंगे अच्छे और बुरे समय दोनों में।

Jaisa Sochoge Waisa Banoge

आपको personal और professional life को balance करने के लिए तीन नियमो का अपने life में follow अवश्य करना चाहिये

1.Personal Life को importance दे

अगर आप अपने personal life means अपने family, friends,       hobby को     value देंगे तो आपको direct benefit    तो कुछ    नहीं होगा लेकिन आप अनुभव करेंगे कि   आपके मन मे,family में शांति हैं तो आपके     कार्यस्थल पे  आपका performance पहले से बेहतर होगा और कार्यस्थल पर कम समय मे ज्यादा output दे पाएंगे,इससे आपका professiona औऱ personal life दोनो को balance करने में मदद मिलेगी।इसके   साथ ही     आप अपने छुट्टी के दिन भी office केवल इसलिए जा रहे ताकि आपका boss आपको शाबाशी दे तो    ये अपने  आप के ऊपर जुल्म कर रहे हैं,     क्योंकि आप बेमन होकर office चले भी     गए तो आप काम नहीं कर पाएंगे क्योंकि      आपको    पता हैं कि ये rest day आपको अपने लिए   दिया गया हैं ताकि आप अपना personal work      और social activity निपटा सकें यदि आप केवल यह सोचकर office जा रहे हैं        rest day पे कि घर में कुछ काम नहीं तो ये आप अपने आप से       नाइंसाफी कर रहे हैं, आप office जाने के   बजाय    अपने किसी hobby को और family को time  दे सकते हैं   जैसे कहीं घूमने   चले गए या movie देखने या किसी friend से मिलने चले गए।यदि आप आज अपने family को time देंगे तो निश्चित ही आपको family भी कल आपको time देगी अन्यथा नहीं।

2. Parkinson Law

ये law हमे ये बताता हैं कि हमे कोई काम दिया गया और उसे पूरा करने के लिये 8घंटे का समय दिया गया हैं तो हम उस काम को time के according,expand करते हैं।यदि same काम को पूरा करने के लिए हमको 4 घंटे का समय दिया जाए तो हम जरूर उसे पूरा करने के लिये कोई न कोई smart way ढूंढ़ ही लेंगे, इसी को parkinsons का law कहते हैं इस rule को हमे भी अपने life में follow करना चाहिये ताकि बचे हुए 4 घंटे का future planningया self improvement के लिए  समय    दे सके,  means    अपने   बारे में सोच    सके काम   पूरा करने से आपको मतलब होना    चाहिये  न कि   काम completion duration को बढ़ाने से।

3.Pareto Principle-

इस principle को 80/20 का भी principle कहते हैं मतलब 80% case को 20% कारणों पे ध्यान देकर सही समय मे problem से निपटा जा सकता हैं या कह सकते हैं आपके कार्य स्थल पर ऐसे 20% चीज हैं जिनको हम सही तरीके से समझकर 80% काम को समय से पहले निपटा सकते,आप चाहे तो practical करके देख सकते है।

अगर हम ये तीन law को सही तरीके से अपने life में उतारे तो हमारी professional औऱ personal life balance हो सकती है,अगर पसंद आया हो तो like औऱ share करना न भूले हो सकता आपके एक share से किसी जरूरतमंद को राह मिल जाए।

आपका मित्र 

                                                                                                                     शशांक कुलदीप द्विवेदी

www.hinditechtalk.com

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *