Independence day speech

Independence Day Speech

 

स्वतंत्रता दिवस भाषण -01

 

 

 

 

 

 

 

आज यहाँ हम सब  स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए एकत्रित हुए आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं आज के ही दिन हमें 15 अगस्त 1947  रात 12 बजकर 7 मिनट से 12 बजकर 27 मिनट के बीच हमारी भारत माता पराधीनता के जंजीर से मुक्त हो  हुई थी|

15 अगस्त 1947 को हिंदुस्तान टाइम्स और स्टेट्समैन जैसे अखबारों में भारत देश की आजादी की खबर छाप दी गई और दस्तावेजों के हस्तांतरण के बाद भारत  को स्वतंत्र  घोषित कर दिया गया |

 

 

 

 

 

 

 

15 अगस्त 1947 को सुबह 11 बजे लाल किला के लाहौरी गेट पे भारत के प्रथम प्रधान मंत्री पंडित  जवाहरलाल नेहरू जी ने राष्ट ध्वज तिरंगा फहराया साथ ही प्रधान मंत्री पद के लिए  शपथ लिए और वायसरॉय लार्ड मौन्टबेटन ने गवर्नर पद का शपथ लिया |

सोचिये उस दिन भारत वासियो को कैसे आनंद की अनुभूतियाँ  हुई होगी ये स्वतंत्रता  के लिए न जाने कितने वीर सपूतो ने अपने जान की आहुतिया दी होंगी | हम अपने आगामी पीढ़ियों को ये     बताये की कौन थे वो वीर सपूत और साथ ही हम सभी का कर्तव्य है की हम अपने भारत माता के शहीद सपूतो को को कम से कम अपने स्मृतियो में जिन्दा रखे|

 

स्वतन्त्रा दिवस असल में हम सभी इसलिए मानते है   ताकि हम अपने वीर क्रांतिकारियों के बलिदान को याद कर उन्हें नमन कर सके|

 

आजकल बच्चे  आधुनिकता और टेक्नोलॉजी के चलते अपने वीर क्रांतिकारियों को भूलते जा रहे हैl हम बड़ो का ये जिम्मेदारी है की स्वतंत्रता दिवस के बहाने    वीर क्रांतिकारियों को   भावभीनी श्रद्धांजलि और नमन करना  बच्चो को सिखाना  चाहिए ,आइये जानते है कौन कौन बड़े क्रन्तिकारी थे जो अपने जीवन के परवाह किये बिने स्वतंत्रता के लिए अपने जान की आहुतिया दे दिए

 

खान अब्दुल गफ्फार खान बाल गंगाधर तिलक बिपिन चंद्र पाल चितरंजन दास दादाभाई नरोजी
अशफाकउल्लाह खान बेगम हजरत महल चंद्रशेखर आजाद खुदीराम बोस लक्ष्मी सहगल
लाला हरदयाल लाला लाजपत रॉय महादेव गोविन्द मंगल पांडेय मौलाना अब्दुल कलाम
मोतीलाल नेहरू राम मनोहर लोहिआ राम प्रसाद बिस्स्मालाह रानी लक्ष्मी बाई सरदार वल्लभ भाई पटेल
शहीद भगत सिंह शिवराम राजगुरु सुभाष चंद्र बोस सुखदेव सुरेंद्र नाथ बनर्जी
टीपू सुल्तान वीर सावरकर भीम सेन आचार्य कृपलानी अरुण असफ अली
जतिंद्र मोहन सेनगुप्ता मदन मोहन मालवीय नेली सेनगुप्ता पंडित बाल कृष्णा शर्मा पुष्पा लता दास
सागरमल दास

 

और जिनका नाम मैं यहाँ भूल गया हूँ उन शहीदों को भी नमन वीर सपूतो को नमन करने के साथ मैं अपने शब्दों को विराम देता हूँ और अंत में कवी मैथिलीशरण जी द्वार कही दो पँक्तिया वीर शहीदों के लिए

 

जो भरा नही है भावो से, जिसमे बहती रसधार नही ।  वह ह्रदय नही है पत्थर है, जिसमे स्वदेश का प्यार नही।।

 

 


 

ये भी पढ़े

kabir ke dohe in hindi

Quotes of 11th President of India

अपने Goals में Focus करिये।

 

 

स्वतंत्रता दिवस भाषण-02

 

स्वतंत्रता दिवस की आप सभी भारतवासी को हार्दिक शुभकामनाएं आज के ही दिन स्वतंत्रता प्राप्ति की साधना हमारे वीर शहीदों क्रांतिकारियों के द्वारा सम्पन हुई थी स्वतंत्रता प्राप्ति की साधना में न जाने कितने ही वीर,शहीद हो गए तब कही जाकर हम सभी को परतंत्रता से मुक्ति मिली

आजादी के बाद आजादी को संजोए रखने की जिम्मेदारी हम सभी पर है और हम सभी का कर्त्यव है कि हम हर मामलो में चाहे टेक्नोलॉजी की बात हो या आर्थिक रूप से परिपूर्ण हमको सम्पन बनना है हम उस भारत देश के निवासी है जहां सोने की चिड़िया निवास करती थी हमको विश्वगुरु बनने के लिए जो भी करना पड़ेगा हम करेंगे,हम लेने नहीं देने में विश्वास करते है चाहे आर्थिक मदद हो,या टेक्नोलॉजी हमको वसुधैव कुटुम्बकं का सपना साकार करना है

 

इन सबके बीच हमे देश के आधारभूत लोगो को नहीं भूलना चाहिए  जो हमारे पेट भरने वाले किसान हो ,हमारे लिए छत बनाने वाले मजदूर, जो  आर्थिक मजबूरियों के कारण  सिसक  रहे है | हम सबको मिलकर उन सब का आँसू पोछना होगा यह तभी सम्भव है  जब  शिक्षा का शस्त्र उनके हाथो में होगा तब भारत माता मुस्कुराएगी और कहेगी ये है मेरे स्वतंत्र सपूत

वीर शहीदों की कुर्बानी व्यर्थ न हो जाये और वो जहा से भी देख रहे हो हमे कोसे नहीं हम पर गर्व करे की ये है हमारे भारतवर्ष के निवासी है,आइये शपथ लेते है की

 हम बढ़ेंगे और सब साथ-साथ बढ़ेंगे 

 

वीर सपूतो को नमन करने के साथ मैं अपने शब्दों को विराम देता हूँ और अंत में कहना चाहता हूँ

भगवान करे हमारा भारत और बढ़े,फले,फूले और विश्वगुरु बनके उभरे |

 

 पसंद आये तो अपने school  और college में   speech देने  में उपयोग करे
आपका मित्र
शशांक कुलदीप द्विवेदी
www.hinditechtalk.com

 

 

 

 

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *